کد خبر ۶۸۹ ۳۹۳ بازدید انتشار : ۱۸ آذر ۱۳۹۵ ساعت ۱۹:۵۲

जन्नतकीखिड़की

तमाम बुराईयाँ एक घर में बन्द हैं और उस की चाबी झूठ है।

जन्नतकीखिड़की

इमाम ह़सन असकरी अलैहिस्सलाम ने फ़रमाया:

1,

चहरे की ख़ूबसूरती ज़ाहिरी ख़ूबसूरती है जबकि अक़्ल की ख़ूबसूरती बातनी (अस्ल) ख़ूबसूरती है।

2,

तमाम बुराईयाँ एक घर में बन्द हैं और उस की चाबी झूठ है।

3,

तक़्वा इख्तियार करो और हमारे लिए ज़िनत का ज़रिआ बनो, बदनामी का नहीं।

4,

जो चीज़ों एसी हैं कि उनसे बढ़ कर कोई खूबी नहीं अल्लाह पर ईमान और अपने भाईयों को फ़ायेदा पहुचाना।